हिजाब पहन कर सारा ने रची तारीख

हिजाब पहन कर सारा ने रची तारीख

लंदन! ब्रिटेन के हडर्सफील्ड की एक मुस्लिम तालिबा (छात्रा) सारा इफ्तिखार ने हिजाब और पूरा जिस्म ढकने वाली पोशाक पहन कर मिस इंग्लैण्ड का मुकाबला जीतकर पूरी दुनिया के उन लोगों के मुंह पर एक जबरदस्त तमाचा मारा है जो हर मौके पर हिजाब और पर्दे की मुखालिफत करते रहते हैं। सारा इफ्तिखार ने साबित कर दिया कि अपनी खूबसूरती का लोहा मनवाने के लिए किसी भी लड़की या खातून के लिए कपडे़ उतार कर दुनिया के सामने बिरहना (नंगा) होना जरूरी नहीं है। यहां यह बताना भी जरूरी है कि सारा किसी मदरसे में तालीम हासिल करने वाली तालिबा (छात्रा) नहीं है। वह हडर्सफील्ड युनिवर्सिटी में कानून की तालीम हासिल कर रही है और अपने क्लास की जहीन व काबिल लड़कियों में उसका शुमार होता है।
उसने जुलाई में मिस हडर्सफील्ड 2018 खिताब जीता था और अब 49 दूसरी लड़कियों के साथ मिस इंग्लैंड के ताज के लिए मुकाबला करेगी। बीस साल की तालिबा मेकअप आर्टिस्ट के तौर पर भी काम करती है और सोशल मीडिया पर काफी मकबूल (लोकप्रिय) है।
सारा ने कहा, ‘‘मुझे उम्मीद नहीं थी कि मैं तारीख (इतिहास) बनाऊंगी। मुझे फख्र महसूस हो रहा है। मैं शायद (मिस इंग्लैंड के फाइनल में) हिजाब पहनने वाली पहली लड़की हो गई। हालांकि मैं एक मामूली सी लड़की हूं और हम सबके पास इस मुकाबले में बराबर का मौका था।
नाटिंघमशायर के नेवार्क में वाके केल्हम हाल में हुए मुकाबले में जीतने वाली लड़की इस साल दिसंबर में चीन के सान्या में होने वाले मिस वर्ल्ड मुकाबले में देश की नुमाइंदगी करेगी।