इमरान खान ने अपना सदर भी जितवाया

इमरान खान ने अपना सदर भी जितवाया

इस्लामाबाद! पाकिस्तान की बरसरे एक्तेदार (सत्ताधारी) तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के उम्मीदवार आरिफ अल्वी ने चार सितम्बर को मुल्क के राष्ट्रपति का चुनाव जीत लिया। मरकजी टीवी चैनल पीटीवी न्यूज की एक रिपोर्ट में खबर दी गई कि तीन उम्मीदवारों ने देश के 13वें राष्ट्रपति के ओहदे के लिए चुनाव लड़ा था।
अल्वी के अलावा, पीएमएल-एन की हिमायत से मुत्तहिदा मजलिस-ए-अमल (एमएमए) के चीफ मौलाना फजलउर्रहमान और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के सीनियर लीडर एतजाज अहसन भी चुनाव मैदान में थे। चीनी खबर रसां एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक अल्वी ने पार्लियामेंट में शुरुआती नतीजों के बाद ही अपनी जीत का एलान कर खुद ही कर दिया था। पार्लियामेट के दोनो एवानों यानी सीनेट और नेशनल असम्बली में सबसे ज्यादा वोट हासिल करने के फौरन बाद अल्वी ने एलान कर दिया था उनको अब कोई टक्कर भी देने की हैसियत में नहीं है।
नतीजों के हवाले से डान न्यूज ने बताया कि नेशनल असम्बली और सीनेट में पड़े कुल 430 वोटों में से अलवी को 212 वोट मिले, फजल उर्रहमान को 131 और एतजाज अहसन को 81 वोट मिले। छः वोट खारिज कर दिए गए। अखबार के मुताबिक बलूचिस्तान के नौ मुंतखब मेम्बरान पार्लियामेट के डाले गए 60 वोटों में से अलवी को 45 वोट मिले।
पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी वाली सिंध असम्बली में एतजाज अहसन को 100 वोट मिले, जबकि वहां अलवी को 56 वोटों पर ही कनाअत (संतोष) करना पड़ा। रहमान के हक में सिर्फ एक वोट पड़ा। खैबर पख्तून असम्बली में अलवी को कुल 109 में से 78 वोट मिले। वहीं रहमान और अहसन को 26 और पांच वोट मिले।
पुराने राष्ट्रपति ममनून हुसैन का टर्म आठ सितंबर को खत्म हो गया। पेशे से डेंटिस्ट 69 साल के आरिफ अलवी पीटीआई के बानी मेम्बरान (संस्थापक सदस्यो) में से एक हैं।