आलमी एजेंसी के सर्वे में इंकशाफ औरतों के लिए सबसे खतरनाक मुल्क हिन्दुस्तान

आलमी एजेंसी के सर्वे में इंकशाफ औरतों के लिए सबसे खतरनाक मुल्क हिन्दुस्तान

नई दिल्ली! एक तरफ वजीर-ए-आजम नरेन्द्र मोदी ‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ’ के बुलंद बांग नारे लगाकर अपनी नाम निहाद कामयाबियों का ढोल पीट रहे वहीं दूसरी तरफ थामसन राइट्स नामी आलमी एजेसी ने अपने सर्वे में कहा है कि जिन्सी तशद्दुद के खतरे की वजह से इस वक्त हिन्दुस्तानी औरतों के लिए दुनिया का सबसे खतरनाक मुल्क बन गया है। इससे कुछ दिन पहले अमरीकी खुफिया एजेंसी सीआईए ने अपने हालिया वर्ल्ड फैक्ट बुक एडीशन में विश्व हिन्दू परिषद और बजरंग दल को दहशतगर्द तंजीमें करार दिया है। इसके अलावा यूएन ने अपनी रिपोर्ट में कश्मीर में इंसानी हुकूक की पामाली पर गहरी तश्वीश का इजहार किया है। वजीर-ए-आजम नरेन्द्र मोदी आए दिन दुनिया के मुख्तलिफ मुल्को के चक्कर लगाते हैं और उनकी गुलामी करने वाले मीडिया के लोग यह तास्सुर देने की कोशिश करते हैं कि मोदी के आने के बाद दुनिया में हिन्दुस्तान की तस्वीर ज्यादा बेहतर हुई है। वहीं आलमी सर्वे यह बताता है कि ख्वातीन के लिए हिन्दुस्तान दुनिया का सबसे खतरनाक मुल्क बन गया है। आलमी एजेंसी के इस सर्वे पर कांग्रेस के सदर राहुल गांधी ने वजीर-ए-आजम नरेन्द्र मोदी पर सख्त तंकीद की है। उन्होने अपने टवीट में कहा कि मुल्क में औरतें गैर महफूज हैं और वजीर-ए-आजम योग का वीडियो बनाने में मसरूफ हैं। यह हमारे लिए शर्म की बात है कि औरतों के खिलाफ जिन्सी तशद्दुद के मामले में हिन्दुस्तान की सूरतेहाल अफगानिस्तान, सीरिया और सऊदी अरब से भी ज्यादा खराब हो गई है।

लेकिन कौमी ख्वातीन कमीशन ने थामसन राइट्स फाउडेशन ने इस सर्वे को हिन्दुस्तानी औरतों के लिए दुनिया का सबसे खतरनाक मुल्क बन गया है सिरे से खारिज कर दिया है। कमीशन की कारगुजार सदर रेखा शर्मा ने कहा कि इस सर्वे का दायरा बहुत छोटा था और इसे पूरे मुल्क की नुमाइंदगी के तौर पर नहीं देखा जा सकता। उन्होने किसी मुल्क का नाम लिए बगैर कहा कि हिन्दुस्तान में औरतें अपने मसायल के सिलसिले में काफी बेदार हैं और ऐसा नहीं हो सकता कि हिन्दुस्तान को किसी सर्वे में पहले मकाम पर रखा जाए।