सीरीज हारने के बावजूद भारत के पास रहा – आईसीसी टेस्ट चैम्पियनशिप का खिताब

सीरीज हारने के बावजूद भारत के पास रहा – आईसीसी टेस्ट चैम्पियनशिप का खिताब

जोहानिसबर्ग! भारत की साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीसरे और आखिरी टेस्ट में मिली जीत से विराट कोहली एंड कंपनी ने आईसीसी टेस्ट चैम्पियनशिप गदा (खिताब) बरकरार रखते हुए 10 लाख डालर का इनाम जीत लिया। वांडरर्स पर मिली 63 रन की जीत से यह तय हुआ कि साउथ अफ्रीका की टीम आईसीसी टेस्ट टीम रैंकिंग में भारत से आगे नहीं बढ़ पायेगी, भले ही वह मार्च में आस्ट्रेलिया में होने वाली टेस्ट सीरीज के सभी चारों मैच जीत ले। वैसे टीम रैंकिंग की कट-आफ तारीख तीन अप्रैल है। भारतीय टीम 124 प्वाइंट के साथ साउथ अफ्रीका पहुंची थी। साउथ अफ्रीका के 111 प्वाइंट  थे और वह उससे 13 प्वाइंट पीछे थी। हालांकि सीरीज हारने के बाद कोहली के खिलाड़ियों के 121 प्वाइंट होंगे लेकिन साउथ अफ्रीका के 115 प्वाइंट हैं। लेकिन भारतीय टीम के लिये यह बावकार आईसीसी टेस्ट चैम्पियनशिप गदा बरकरार रखने के लिये इतने प्वाइंट काफी होंगे जो लगातार दूसरी बार होगा।

चेतेश्वर पुजारा और जरुरत के वक्त अजिंक्य रहाणे की इनिग्स ने भी जोहानिसबर्ग के आखिरी टेस्ट में जीत दिलाने में अहम रोल अदा दिया। पहली इनिंग में पुजारा के 50 और दूसरी इनिंग में अजिंक्य रहाणे की 46 रन की अहम इनिंग ने टीम को अच्छा सहारा दिया। यही नहीं कोई भी क्रिकेट पंडित मैन आफ द मैच भुवनेश्वर कुमार के पहली इनिंग में 30 और दूसरी इनिंग में 33 रन को अनदेखा करने की हिम्मत नहीं कर सकता। वहीं यह दूसरी इनिंग में आठवें विकेट के लिए जोड़े गए 35 रन ही थे, जिन्होंने भारत की बढ़त को मजबूत करने में मदद की। शमी ने 28 गेंदों पर अहम 27 रन बनाए। हकीकत में गेंद और बल्ले से टेलएंडर्स का रोल भारत के टाप आर्डर से भी ज्यादा रहा। जोहांसबर्ग टेस्ट में मिली जीत से जहां टीम इंडिया के जख्मों पर कुछ मरहम लगा है, तो वहीं हिन्दुस्तानी खेल शायकीन का दुख भी कम हुआ है। उम्मीद है कि इस जीत का असर वनडे और टी-20 सीरीज पर भी दिखाई पड़ेगा। मैच में गेंद और बल्ले दोनांे से अच्छा मुजाहिरा करने वाले भुवनेश्वर कुमार को मैन आफ दा मैच दिया गया जबकि वर्नोव फिलेंडर मैंन आफ द सीरीज रहे।