बीजेपी की जहरीली बयानबाजी पर मोदी खामोश

बीजेपी की जहरीली बयानबाजी पर मोदी खामोश

नई दिल्ली! साउथ कन्नाडा से लोक सभा मेम्बर और नरेन्द्र मोदी वजारत में मिनिस्टर आफ स्टेट अनन्त कुमार हेगड़े के संविधान मुखालिफ बयान का मसला अभी पूरी तरह खत्म भी नहीं हुआ था कि राजस्थान, उत्तर प्रदेश और बिहार के बीजेपी मेम्बरान ने मुसलमानों के खिलाफ जहर उगलना शुरू कर दिया। बीजेपी के सर्वेसर्वा बन चुके वजीर-ए-आजम नरेन्द्र मोदी की इन तमाम बयानात पर खामोशी साफ इशारा कर रही है कि यह हरकते चंद महीने बाद होने वाले आठ प्रदेश असम्बलियों और डेढ साल बाद होने वाले लोक सभा एलक्शन का पेशखेमा है। इसी तरह की जहरीली और शर्मनाक बयानबाजी के जरिए बीजेपी शायद मुल्क में वोटों को पोलराइज करना चाहती है।

राजस्थान असम्बली में अलवर सेे बीजेपी मेम्बर असम्बली बनवारी लाल सिंघल ने जहर उगलते हुए कह दिया कि 2030 तक मुल्क की सत्ता पर कब्जा करने की साजिश के तहत मुसलमान 12-14 बच्चे पैदा कर रहे हैं। अगर उनकी बीवियां किसी वजह से इतने बच्चे पैदा नहीं कर पाती तो वह बंगाल, असम और दूसरे गरीब इलाकों से लड़कियां खरीद कर लाते हैं उनके साथ शादी करते हैं और उन्हें बच्चे पैदा करने की मशीन बना देते हैं। उधर बिहार से बीजेपी के लोक सभा मेम्बर गिरिराज सिंह ने एक बार फिर जहरीली जुबान चलाई और बोले कि मुसलमानों की बढती हुई आबादी देश के लिए एक बड़ा खतरा बन गई है। जहां-जहां मुसलमानों की आबादी ज्यादा हो जाती उन मकामात पर हिन्दुओं का रहना मुश्किल हो जाता है। गिरिराज सिंह भी हेगडे़ की तरह मोदी के साथ वजीर हैं।

उत्तर प्रदेश में सितम्बर 2013 में भयानक दंगों का शिकार बन चुके मुजफ्फरनगर के खतौली असम्बली हलके से बीजेपी के मेम्बर असम्बली विक्रम सैनी ने घटिया जहरीली और घिनौनी बयानबाजी की तमाम हदें तोड़ते हुए कह दिया कि अगर देश की तकसीम के वक्त दाढी वालों को यहां रूकने न दिया गया होता तो आज सारी जमीनें हम हिन्दुओं की ही होती और हम हिन्दुस्तान को आराम से हिन्दूराष्ट्र बनाकर सुकून से रह रहे होते। रामपुर से बीजेपी के लोक सभा मेम्बर नेपाल सिंह ने तो इन तमाम बयान बहादुरों को पीछे छोड़ते हुए यहां तक कह दिया कि अगर कश्मीर में या लाइन आफ कण्ट्रोल के पास फौजी मारे जा रहे हैं तो इसमें नया क्या है। दुनिया का कौन सा मुल्क है जहां फौजी नहीं मरते? नेपाल सिंह अपने हलके के मिलक में गरीबों को कम्बल तकसीम करने गए थे। वहीं उन्होने मीडिया से बात की थी।

भारतीय जनता पार्टी के संवैधानिक ओहदों पर बैठे इन मुजरिम जेहन लोागों के बयान साल शुरू होते ही एक साथ आए हैं इसका क्या मतलब है क्या यह जहरीली बयानबाजी को किसी बड़ी साजिश का हिस्सा नहीं कहा जा सकता हैै। अलवर लोक सभा हलके का बाईएलक्शन भी 29 जनवरी को ही होने वाला है। पार्टी को जहरीले बयानात की जरूरत भी है।

राजस्थान के अलवर से बीजेपी मेम्बर असम्बली बनवारी लाल सिंघल के मुस्लिम मुखालिफ जहरीले बयान के बाद एक और बीजेपी मेम्बर असम्बली ने चैंका देने वाली बात कही है। हमेशा ही अपने बयानों को लेकर बदनाम रहे बीजेपी एमएलए विक्रम सैनी ने एक बार फिर मुसलमानों पर निशाना साधा है। मुजफ्फरनगर के खतौली से बीजेपी मेम्बर असम्बली विक्रम सैनी ने एक पब्लिक मीटिंग में तकरीर करते हुए खुद को कट्टर हिंदू बताया और हिंदुस्तान को हिंदुओं का देश बताया। उन्होंने कहा, ममैं कट्टर हिंदूवादी हूं और यही मेरी शिनाख्त (पहचान) है। मैं जातिवाद में मुकम्मल यकीन करता हूं। हमारे देश का नाम हिंदुस्तान है मतलब कि यह हिंदुओं का देश है।फ बगैर किसी लीडर का नाम लिए विक्रम सैनी ने पुरानी सरकारों पर जोरदार हमला करते हुए  कहा कि अगर मुल्क की तकसीम के वक्त ही मुल्क के कुछ नालायक लीडरान ने दाढ़ी वालों को यहां रोक दिया था तो आज हम मुसीबत में हैं। अगर यह सब भी पाकिस्तान चले जाते तो यह सारी जमीनें हम लोगों की होती। आज बगैर जाति भेद के सबको बराबर का फायदा मिलता है। अब से पहले जितनी लंबी दाढ़ी होती थी उतना लंबा चेक मिलता था।फ

उधर अलवर से बीजेपी मेम्बर असम्बली बनवारी लाल सिंघल ने साल के पहले ही दिन मुसलमानों का नाम लेकर जहर उगला। उन्होंने कहा था कि हिंदू एक और दो बच्चे पैदा कर रहे हैं, उन्हें उनको भी पढाने लिखाने की फिक्र हैै, जबकि मुसलमानों को इस बात की फिक्र है कि देश पर राज कैसे किया जाए। तालीम और तरक्की उनके लिए मायने नहीं रखते हैं। उन्होंने कहा कि यह उनकी जाती मालूमात है। इससे पहले इकत्तीस दिसम्बर को उन्होंने फेसबुक पर मुसलमानों को लेकर अपने घिनौने ख्यालात जाहिर किए थे। उन्होंने पोस्ट में लिखा था कि मुसलमान देश पर राज करने के मकसद से ज्यादा बच्चे पैदा कर रहे हैं। वह हिंदुओं को उनके ही देश में किनारे करने के लिए आबादी बढ़ा रहे हैं। वह चाहते हैं कि देश में मुस्लिम सदर ए जम्हूरिया (राष्ट्रपति), मुस्लिम वजीर-ए-आजम और सूबों में मुसलमान ही चीफ मिनिस्टर बने।

मुसलमानों की आबादी पर बीजेपी के लीडर और मरकजी वजीर गिरिराज सिंह ने भी बेहद घिनौना बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि मुसलमानों की बढ़ी आबादी देश के लिए खतरा हो सकती है। गिरिराज ने कहा, मदेश के अंदर बढ़ती हुई आबादी और खासकर मुसलमानों की बढ़ती आबादी समाजी प्यार-मोहब्बत के लिए तो खतरा है ही तरक्की के लिए भी खतरा है। जहां-जहां हिंदुओं की आबादी गिरी है वहां-वहां समाजी दोस्ताना टूटा है, चाहे केरल का मल्लापुरम हो, बिहार का किशनगंज हो, उत्तर प्रदेश हो, कैराना हो या बिहार का रानीसागर हो, भोजपुर जिला हो। तरक्की और समाजी प्यार-मोहब्बत  के लिए यह अच्छा इशारा नहीं है, इसलिए इस पर बहस होनी चाहिए और बच्चों की तादाद पर कानून बनना चाहिए।

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में बोलते हुए अपने भड़काऊ बयानात के लिए बदनाम विक्रम सैनी ने कहा, महमारे मुल्क का नाम हिन्दुस्तान है, जिसका मतलब है कि यह देश हिन्दुओं के लिए है… आज सभी को बगैर किसी भेदभाव के फायदा मिलता है… पहले ऐसा होता था, जिसमें जिसकी जितनी लम्बी दाढ़ी होती थी, उसे उनका ही लम्बा चेक दिया जाता था।फ विक्रम सैनी के इस बयान का निशाना कांग्रेस को माना जा रहा है, जिन पर मुसलमानों की मुंहभराई (तृष्टिकरण) का इल्जाम लगता रहा है। गौरतलब है कि मुजफ्फरनगर में ही 2013 में फिरकावाराना दंगों की जद में आकर कम से कम 60 जानें गई थीं।

अलवर के एमएलए बनवारीलाल सिंघल की मुतनाजा (विवादित) फेसबुक पोस्ट ऐसे वक्त में सामने आई जब अलवर लोकसभा हलके में 29 जनवरी को बाईएलक्शन होने हैं। बनवारीलाल सिंघल ने अपनी फेसबुक पोस्ट में लिखा है कि जहां हिंदू एक या दो बच्चों पर रुक जाते हैं, वहीं मुसलमान 12-14 बच्चे पैदा करते हैं। उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए कहा कि जिस तरह से मुसलमानों की आबादी बढ़ रही है, उससे हिंदुओं का वजूद खतरे में है। मुस्लिम समाज एक सोची समझी हिकमते अमली (रणनीति) के तहत देश में मुस्लिम सदर-ए-जम्हूरिया (राष्ट्रपति), मुस्लिम वजीर-ए-आजम और मुस्लिम चीफ मिनिस्टर बनाने के लिए आबादी बढ़ा रहा है। सिंघल ने इल्जाम लगाया कि अगर मुस्लिम मुल्क के सर्वेसर्वा बन जाते हैं तो हिंदू उस देश में दूसरे दर्जे के शहरी हो जाएंगे। जब फेसबुक पोस्ट को लेकर सिंघल से सवाल किया गया तो उनका जवाब था कि  ममैंने बहुत सोच समझकर यह बयान पोस्ट किया है, जिसे हटाने का मेरा कोई इरादा नहीं है। इतना ही नहीं, उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने भारत में बढ़ती मुस्लिम आबादी को लेकर एक वीडियो देखने के बाद यह पोस्ट लिखा है।

भारतीय जनता पार्टी के रामपुर से लोक सभा मेम्बर नेपाल सिंह ने फौज के जवानों की शहादत पर मुतनाजा बयान देने के बाद माफी भी मांग ली है। भारतीय जनता पार्टी में एमपी सच्चिदानन्द साक्षी के साथ ही मेम्बर असम्बली संगीत सोम और मरकजी वजीर उमा भारती व साध्वी निरंजन वगैरह मुतनाजा बयान देने में काफी आगे हैं। इनके साथ ही साबिक मरकजी वजीर संजीव संजीव बालियान व राज्यसभा मेम्बर विनय कटियार भी आग उगलते रहे हैं। पार्टी में मुतनाजा बयान देने वाले लीडरों की फेहरिस्त में अब नेपाल सिंह का नाम भी जुड़ गया है।

भारतीय जनता पार्टी भले ही अपने सबसे बेहतरीन सियासी दौर से गुजर रही है, लेकिन पार्टी के बदजुबान लीडरों ने वक्त-वक्त पर जहरीली बयानबाजी भी जारी रखी है। रामपुर से बीजेपी मेम्बर लोक सभा नेपाल सिंह ने हिन्दुस्तानी फौज को लेकर मुतनाजा (विवादित) बयान दे दिया। नेपाल सिंह ने फौजी जवानों की शहादत पर यह बयान देने के बाद माफी भी मांग ली है। कश्मीर में दहशतगर्दों के हमले में जवानों के शहीद होने पर नेपाल सिंह ने कहा है कि फौज के जवान तो रोज मरेंगे। ऐसा कोई ऐसा देश नहीं है जहां आर्मी का जवान न मरता हो। उन्होंने कहा कि गांवों में भी झगड़ा होता है तो कोई न कोई जख्मी होता है। उन्होंने कहा कि ऐसी कोई डिवाइस बताओ जिससे कोई आदमी न मरा हो। ऐसी कोई चीज बताओ जिसमें गोली काम न करे। उन्होंने मीडिया नुमाइंदों से ही सवाल कर डाला कि वह कोई ऐसी डिवाइस बताएं, जिसके इस्तेमाल से जवान न मरते हों। उन्होंने आगे कहा कि यह गोरिल्ला वार है, जिसमे एक दूसरे को सरप्राइज देते रहते हैं। ऐसे मे तो मरेंगे ही। उन्होंने मीडिया से कहा कि आर्मी में कोई न  मरे, आप इसका इलाज लेकर आइये।