मीराबाई चानू ने गोल्ड जीत कर रची तारीख

मीराबाई चानू ने गोल्ड जीत कर रची तारीख

नई दिल्ली! मीराबाई चानू ने वल्र्ड हैवीवेट लिफ्टिंग चैम्पियनशिप में तारीख रची है। इस मुकाबले में सोने का मेडल जीतकर मीराबाई पिछली दो दहाइयों से ज्यादा वक्त में यह कमाल करने वाली पहली हिन्दुस्तानी हो गई हैं। उन्होंने अमरीका में यह कामयाबी हासिल करते हुए  रियो ओलिंपिक के खराब मुजाहिरे की टीस मिटाई। इंडियन रेलवे में नौकरी करने वाली चानू ने स्नैच में 85 किलो और क्लीन एंड जर्क में 109 किलो वजन उठाया। उन्होंने 48 किलो ग्रुप में कुल 194 किलो वजन उठाकर नया नेशनल रिकार्ड बनाया।

पोडियम पर खड़े होकर तिरंगा देखकर उसके आंसू निकल गए। उनसे पहले ओलिंपिक में कांसे का तमगा जीतने वाली  कर्णम मल्लेश्वरी ने 1994 और 1995 में वल्र्ड चैम्पियनशिप में सोने का  तमगा जीता था। चानू रियो ओलिंपिक में तीनों कोशिशों में नाकाम रही थीं और 12 वेट लिफ्टरों में वह मुकाबला पूरा न कर पाने वाली दो में से एक थीं।

थाईलैंड की सुकचारोन तुनिया ने सिल्वर और सेगुरा अना इरिस ने कांसे का तमगा जीता। डोपिंग से जुड़े मसलों की वजह से रूस, चीन, कजाखस्तान, उक्रेन और अजरबैजान जैसे वेट लिफ्टरों के चोटी के  देश इसमें हिस्सा नहीं ले रहे हैं।