इनकम टैक्स चोरी में पकडे़ गए देशभक्त

इनकम टैक्स चोरी में पकडे़ गए देशभक्त

नई दिल्ली! एक और देशभक्त जयपाल स्वामी को तीन करोड़ की रिश्वत लेने के मामले में सीबीआई ने गिरफ्तार किया है। जयपाल स्वामी डिप्टी इनकम टैक्स कमिशनर मुंबई में तैनात हैं। सोने का कारोबार करने वाली एक बड़ी कम्पनी के इनकमटैक्स रिकार्ड में हेराफेरी करने के लिए उन्होंने तीन करोड़ रूपए की रिश्वत ली फिर यह रकम सोने में तब्दील करने के चक्कर में पकड़े गए। सोने का कारोबार करने वाली कम्पनी का मालिक भी देशभक्तों में शामिल है। वह वजीर-ए-आजम नरेन्द्र मोदी का बहुत बड़ा भक्त बताया जाता है। जिस कारोबारी ने इनकम टैक्स के कागजात में हेराफेरी करने के लिए ही एक अफसर को तीन करोड़ रूपए की रिश्वत दी उसने इनकम टैक्स की कितनी बड़ी रकम की चोरी की होगी इसका अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है। जयपाल स्वामी के अलावा सीबीआई ने इस मामले में सोना कारोबारी प्रथमैश मसदेकर और उसके एक साथी कमलेश शाह को भी गिरफ्तार किया है।

रिश्वत के तौर पर इतनी बड़ी रकम लेने वाले डिप्टी इनकम टैक्स कमिशनर जयपाल स्वामी के बारे में दिलचस्प बात यह सामने आई है कि अपने को किसान का बेटा बताने वाला यह अफसर जिसे हाल ही में मुंबई में तैनात किया गया था राजस्थान के थार इलाके का रहने वाला है। उसने अपनी मुलाजमत का आगाज राजस्थान सरकार के तालीमी मोहकमे से किया था। राजस्थान पब्लिक सर्विस कमीशन के इम्तेहान में वह डीएसपी के ओहदे के लिए मुंतखब हुए। फिर आखिर में वह 2010 इंडियन सिविल सर्विसेज के इम्तेहान में कामयाब हुए और उन्हें इनकम टैक्स मोहकमे में तैनात किया गया। जयपाल स्वामी और उनकी मदद करने वाले एक कारोबारी और उसके एक साथी को सीबीआई ने रंगे हाथों गिरफ्तार तो किया है लेकिन अभी तक यह नहीं मालूम हो पाया है कि उन्होने कितनी टैक्स चोरी के लिए तीन करोड़ रूपए की रिश्वत ली थी।