हिन्दू लड़की से प्यार करने वाले मुस्लिम नौजवान को मिली मौत

हिन्दू लड़की से प्यार करने वाले मुस्लिम नौजवान को मिली मौत

गुमला (झारखण्ड)! गुमला की राज कालोनी के रहने वाले बीस साल के एक नौजवान मोहम्मद शकील को दरख्त से बांधकर सरेआम पीट-पीट कर इसलिए मौत के घाट उतार दिया गया कि उसने पड़ोसी गांव सासों की एक उन्नीस साल की हिन्दू लड़की से प्यार करने का गुनाह किया था। यह मामला रामनवमी के दिन का है। पता चला है कि शकील की हिन्दू महबूबा ने फोन करके उसे यह कहकर बुलाया था  चलो रामनवमी का मेला देखकर आते है। पहले तो शकील ने जाने से मना कर दिया फिर चला गया। दोनों मेला घूमने गए। शकील अपनी स्कूटी पर बिठाकर अपनी महबूबा को मेला घुमाया फिर उसके घर पहुंचाने गया। लड़की को उसके दरवाजे तक पहुंचाने के बाद शकील अपने घर जा रहा था कि गांव के कुछ लोगों ने गांव के बाहर उसे रोका, पकड़ कर उसे दरख्त से बांध दिया और पीटना शुरू कर दिया। उसकी इस तरह पिटाई होते देख कर कुछ लोगों ने शकील के वालिद मिनहाज को इसकी इत्तेला दी। मिनहाज ने पुलिस को खबर की और कुछ लोगों के साथ सासो गांव की जानिब चल पड़ा। मौके पर पहुचे तो अद्दमरा शकील दरख्त से बंधा अपनी आखिरी सांसे ले रहा था। फौरन ही उसे सदर अस्पताल ले जाया गया जहां से रांची रेफर कर दिया गया। रांची जाते वक्त रास्ते में ही शकील ने दम तोड़ दिया।

पुलिस की माने तो पहले तो डर के मारे शकील ने लड़की के साथ मेला जाने से इंकार कर दिया लेकिन बाद में वह लड़की को अपनी स्कूटी से छोड़ने उसके घर तक चला गया। पुलिस को दिए गए बयान मंे लड़की ने इल्जाम लगाया कि जब शकील उसे घर छोड़ने आया उसी वक्त मोहल्ले के लड़कों न उसे पेड़ से बांधकर पिटाई की जिससे उसकी मौत हो गई। पुलिस ने तीसरे दिन जानकारी दी कि इस सिलसिले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस कप्तान चंदन कुमार झा ने बताया, किसी दूसरे मजहब की अपनी गर्ल फ्रेंड के साथ घूमते देखे जाने के बाद मोहम्मद शकील को पीट-पीट कर मार डाले जाने के सिलसिले में हमने छः अप्रैल को तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। उन्होने बताया कि यह वारदात ‘अफेयर की वजह से हुई और यह फिरकावाराना नफरत का वाक्या नहीं है। पुलिस कप्तान ने बताया कि पुलिस के जरिए की गई पूछगछ के दौरान लड़की ने जो सुराग दिए उन्हीं की बुनियाद पर गिरफ्तारियां की गई हैं। एसपी के मुताबिक लड़की के घर वाले इस रिश्ते के खिलाफ थे। उन्होने शकील को लड़की से दूर रहने की हिदायत भी दी थी। शकील ने उनकी हिदायत पर ध्यान नहीं दिया और पंाच अप्रैल को भी लड़की को छोड़ने उसके घर के दरवाजे तक चला गया।

गुमला पुलिस थाने की सरहद में आने वाले सोसो मोड़ पर शकील को फिर इस उन्नीस साल की लड़की के साथ देखकर मकामी लोगों ने लड़की के सामने ही शकील को खम्भे से बांध दिया और बुरी तरह  पीटा। पुलिस कप्तान चंदन कुमार झा ने बताया कि जब देर रात तक शकील घर नहीं लौटा तो उसके घर वालों ने उसके दोस्तों से उसके बारे में मालूमात शुरू की। आखिरकार शकील उन्हें संगीन हालत में पड़ा मिला और उसे अस्पताल ले जाया गया लेकिन छः अप्रैल को उसकी मौत हो गई। पुलिस यह जानने की कोशिश कर रही है कि क्या लड़की के घर वालों ने भीड़ को भड़काया था। एसपी चंदन कुमार ने बताया कि गिरफ्तार किए गए तीनों लोगों को जेल भेज दिया गया है।

शकील गुमला शहर की राजा कालोनी में रहता था। बताया जा रहा है कि वह करीब एक साल से पास के ही गांव में रहने वाली हिन्दू लड़की के साथ रिलेशनशिप में था। अंग्रेजी वेबसाइट हिन्दुस्तान टाइम्स के मुताबिक पांच अप्रैल को लड़की ने उसे रामनवमी के मौके पर मिलने बुलाया था। पहले तो शकील ने आने से मना कर दिया लेकिन बाद में वह स्कूटी से आ गया और लड़की को उसके घर भी छोड़ा। पुलिस को दिए बयान में लड़की ने बताया कि उसी वक्त पड़ोसियों ने शकील को देखा और चारों तरफ से घेर लिया। गांव वालांेे ने शकील को पेड़ से बांधकर घंटों पीटा। जिससेे शकील को संगीन जानलेवा चोटें आईं। पुलिस ने इस  मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया और कई नामालूम लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

गुमला के एसपी चंदन कुमार झा ने बताया कि मामले की जांच चल रही है और गांव वालों ने बताया कि मुस्लिम नौजवान को पहले भी वार्निंग दी गई थी कि वह लड़की से न मिले और गांव न आए। यह वाक्या ऐसे वक्त पर सामने आया है जबकि पड़ोसी रियासत उत्तरप्रदेश में एंटीरोमियो स्क्वायड और बूचड़खानों को बंद करने जैसे फैसले के बाद फिरकावाराना कशीदगी बनी हुई है।