पंजाब में अमरेन्दर ने गाड़े झण्डे

पंजाब में अमरेन्दर ने गाड़े झण्डे

चण्डीगढ! पंजाब की 117 में से 77 सीटंे जीतकर कैप्टन अमरेन्दर सिंह ने अपने झण्डे तो गाड़ ही दिए साथ ही अपनी पार्टी लीडरशिप को यह भी बता दिया कि अगर पंजाब की तरह दूसरे प्रदेशों में भी  पार्टी ने अपने इलाकाई लीडरान पर भरोसा किया होता तो नतीजे कुछ मुख्तलिफ होते। दस साल से हुकूमत कर रहे अकाली दल बीजेपी गठजोड़ और आम आदमी पार्टी के साथ जबरदस्त मुकाबला होने के बावजूद अमरेन्दर सिंह ने 117 मे से 77 सीटंेे जीत लीं। हालांकि ढाई साल पहले हुए लोक सभा एलक्शन में अमरेन्दर सिंह अकेले अमृतसर से जीतेे थे। जबकि आम आदमी पार्टी ने चार सीटंे जीत ली थीं। एक्जिट पोल और एलक्शन सर्वे बता रहे थे कि इसबार पंजाब मंे आम आदमी पार्टी की सरकार बन सकती है। लेकिन अमरेन्दर सिंह ने साबित कर दिया कि पंजाब के अस्ल लीडर वही हैं। असम्बली के साथ अमृतसर लोक सभा हलके का भी बाई एलक्शन हुआ था वह भी कांग्रेस ने जीत लिया।

मणिपुर और गोवा में भी कांगे्रस आगे रहीं। गोवा की चालीस में से 17 सीटें कांगे्रस ने जीती थीं बीजेपी सिर्फ 13 सीटें जीत सकी छोटी पार्टियोें और आजाद जीतने वालों की तादाद दस है। पांच साल से बीजेपी सरकार थी इसके बावजूद वजीर-ए-आला परसीकर भी एलक्शन हार गए। सरकार बनाने के लिए कांगे्रस को सिर्फ चार मेम्बरान की जरूरत थी जबकि बीजेपी के आठ मेम्बर कम थे। इसके बावजूद जोड़ तोड़ करके गोवा की सरकार पर कब्जा करने के लिए वजीर-ए-आजम नरेन्द्र मोदी ने अपने सीनियर मिनिस्टर नितिन गडकरी को फौरन ही गोवा रवाना  कर दिया था।

मणिपुर की साठ सीटों में से कांगे्रस ने 28 और बीजेपी ने 21 सीटें जीतीं एक सीट कम्युनिस्ट पार्टी जीती बाकी दस सीटों में चार सीटंेे एनपीएफ ने जीती है।  सरकार बनाने के लिए 31 मेम्बरान की जरूरत है एक कम्युनिस्ट कांगे्रस के साथ आ चुका था खबर लिखे जाने तक उसे सिर्फ दो मेम्बरान की और जरूरत थी। उधर गोवा में चालीस में से सिर्फ 13 सीटें जीतने के बावजूद बीजेपी ने जोड़तोड़ करके अपनी सरकार बनाने की कोशिश शुरू कर दी थी। लेकिन आल इंडिया कांगे्रस के गोवा के इंचार्ज जनरल सेक्रेटरी दिग्विजय सिंह मुत्मइन दिखे कि गोवा फार्वर्ड पार्टी और एनसीपी के साथ मिलकर कांगे्रस सरकार बना लेगी। उन्होने इल्जाम लगाया कि खरीद फरोख्त के जरिए गोवा में बीजेपी ने सरकार पर कब्जा करने की कोशिश की लेकिन गोवा के मेम्बर असम्बली पैसांे से बिकने वाले नहीं हैं।

एलक्शन के नतीजे पर कांगे्रस पार्टी की तरफ से जारी किए गए बयान में कांग्र्रेस पार्टी के मीडिया इंचार्ज रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि कांगे्रस पार्टी पंजाब में सरकार बनाने और गोवा व मणिपुर में एक्तेदार के करीब पहुचने के लिए इन रियासतों के अवाम की तहेदिल से शुक्रगुजार है। कांगे्रस के नायब सदर राहुल गांधी और कांग्रेस की पूरी कयादत की जानिब से हम पंजाब,गोवा और मणिपुर में कांगे्रस पार्टी के नजरियों और इसकी पालीसियों पर एतमाद का इजहार करते हुए इसे एलक्शन  में कामयाब बनाने के लिए तमाम वोटर्स और पार्टी कारकुनों का शुक्रिया अदा करते है। मुल्क के तीन कोनों पंजाब, गोवा और मणिपुर में कांगे्रस की जीत उन लोगों के लिए सबक है जो दिनरात कांगे्रस मुक्त भारत की बात करते रहते हैं। कांगे्रस इस मुल्क के अवाम के दिल व दिमाग मंे बसी हुई है और इन तीन रियासतों में इसकी कामयाबी ने इसे साबित कर दिया है।

रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि हम उत्तराखण्ड और उत्तरप्रदेश में जीत के लिए भारतीय जनता पार्टी, वजीर-ए-आजम नरेन्द्र मोदी और अमित शाह को मुबारक बाद देते हैं और इन दो रियासतों के अवाम के फैसले के सामने सर झुकाते है। हम इन दो रियासतों में पार्टी के नुक्सान के असबाब पर गौर व फिक्र करेगे। हम इन रियासतों में पार्टी को मजबूत करने  और उसे अवाम के उमंगों की निगरां पार्टी बनाने का नए सिरे से अज्म करते हैं। इसके साथ ही हम उम्मीद करते हैं कि अब भारतीय जनता पार्टी ‘श्मशान, कब्र्रस्तान’ और ‘लफ्जों को मुखफ्फिफ (संक्षिप्त) करने की सियासत’से अब हटकर ‘तरक्की और भाई चारे की सियासत’ और उत्तर प्रदेश की गंगा जमुनी तहजीब की तरफ ध्यान देगी और किसानों की कर्जमाफी, फसलों की लागत पर पचास फीसद मुनाफा जोड़कर उसके हिसाब से कम से कम सहारा कीमत देने, नौजवानों को रोजगार और सनअतकारी जैसे अपने वादों को पूरा करेगी। उत्तर प्रदेश और उत्तराखण्ड में कांगे्रस को अपनी तारीखी और मुस्तकबिल की जिम्मेदारी का पूरी तरह एहसास है और हम अवाम के दिल व दिमाग को जीतने के लिए पार्टी की तंजीम को मजबूत बनाने के लिए पूरी तरह कमिटेड हैं। हम उत्तर प्रदेश में कांगे्रस और समाजवादी पार्टी के सभी लीडरों और कारकुनों और उत्तराखण्ड में कांगे्रस कारकुनों के भी इंतखाबी मुहिम में पूरे जोश व खरोश के साथ शिरकत के लिए भी शुक्रगुजार हैं